निगम के सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर का नाम तय?

करनाल। करनाल नगरनिगम के सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव कल दोपहर तीन बजे हो जाएगा। वैसे इसे चुनाव की बजाय अगर नोमिनेशन कहा जाए तो ज्यादा वाजिब होगा, क्योंकि चुनाव में पार्षदों को सिर्फ नाम बताएं जाएंगे और उन्हीं नामों पर सर्वसम्मति बनेगी। दरअसल वीरवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जब करनाल के दौरे पर थे तब 18 पार्षदों ने उनसे मुलाकात की थी और सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर चुनने का अधिकार उन्हें सौंप दिया था। पार्षदों ने कहा था कि आप जिसके नाम पर मुहर लगाएंगे वो हमें मंजूर होगा। मुख्यमंत्री से मुलाकात करने वालों में बीजेपी और बीजेपी समर्थित पार्षद थे। बलविंद्र सिंह और पप्पू लाठर की पत्नी इस बैठक में नहीं थी। इधर बताया जाता है कि नगरनिगम चुनाव में लिए पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए कंवर रामपाल सुबह 9 बजे करनाल पहुंचेंगे और पार्षदों से मुलाकात करेंगे। मुलाकात के बाद उनकी नब्ज टटोली जाएगी और दोपहर 3 बजे चुनाव संपन्न कराया जाएगा। हालांकि सूत्रों की माने तो मुख्यमंत्री ने नाम तय कर लिया है लेकिन वो चेहरा कौन होगा इसकी भनक किसी को भी नहीं है। किसी पार्षद को ये संकेत या इशारा नहीं है कि उनहें किसका समर्थन करना है। करनाल नगरनिगम का सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर कौन होगा इसका अगर किसी को सही मायनों में कुछ पता है तो वे हैं सांसद संजय भाटिया या फिर भाजपा के जिला प्रधान योगेंद्र राणा को इस बारे में कुछ संकेत हो सकते हैं। बताया जाता है कि चुनाव से 15 मिनट पहले ही पर्ची पर लिख कर दो नाम भेजे जाएंगे और उन्हीें नामों पर मुहर लगा दी जाएगी। अब ये नाम कौन होगा इसे लेकर सिर्फ कयासबाजी का ही दौर है। जानकारों की माने तो नगरनिगम के सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर पद के लिए जातीय समीकरणों को साधने की कोशिश की जा सकती है। सीनियर डिप्टी मेयर का पद पंजाबी समाज के किसी व्यक्ति को दिया जा सकता है। इनमे तीन नाम प्रमुख है। पहले नंबर पर भाजपा युवा मोर्चा के जिला प्रधान मुकेश अरोड़ा है। दूसरे नंबर पर अशोक भंडारी की पुत्रवधु मेघा भंडारी है और तीसरे नंबर पर हरीश कुमार बिट्टु है। पंजाबी समुदाय के अलावा अगर किसी को इस पद के लिए नामित किया जाता है तो वो उसमे प्रमुख नाम राजेंद्र शर्मा का है। राजेंद्र शर्मा को चुने जाने की उम्मीद कम है लेकिन उनके नाम से इनकार नहीं किया जा सकता है। अगर डिप्टी मेयर की बात करें तो इसमे सबसे पहला नाम रजनी प्रोचा का है। रजनी प्रोचा अनुसूचित जाति से आती है। इसके अलावा दूसरा नाम रामचंद्र काला का भी है। कुल मिला कर गेम इन छह लोगों के बीच में ही है। अब जातीय समीकरणों और वोटों के गणित के लिहाज से कौन फिट बैठेगा ये तो मुख्यमंत्री को ही पता है। पिछली बार नगरनिगम के सीनियर डिप्टी मेयर का पद वैश्य समुदाय के पास था और डिप्टी मेयर का पद पंजाबी समाज के पास था। तब इनका चयन पार्षदों ने किया था क्योंकि मेयर का चुनाव भी पार्षदों ने ही किया था। अब ये भेद तो कल ही खुलेगा कि निगम का सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर कौन होगा लेकिन इतना तय है कि कल तीन बजे ये तस्वीर पूरी तरह से साफ हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *